दुःखद-अमानतुल्ला,ह खान पर टूटा ग,मो का पहाड़, जीतने के तुरंत बाद ये हो गया—

दिल्ली विधानसभा चुनाव में एक लाख तीस हजार से अधिक वोट हासिल कर जीत दर्ज करने वाले ओखला से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान के परिजनों ने पु,लिस पर उनकी पिटाई करने का आरोप लगाया है। खान के परिजनों का आरोप है कि उनके जीतने के बाद मेरठ में रह रहा उनका परिवार जश्न मना रहा था, इसी दौरान पु,लिस ने उनकी पिटा,ई की।

यह आरोप अमानतुल्लाह खान के परिजनों और रिश्तेदारों ने खुद वीडियो जारी कर लगाया।अमानतुल्लाह खान के परिजनों और रिश्तेदारों का कहना है कि योगी की पु,लिस ने मारपीट करने के साथ अभद्र,ता भी की। उनका आरोप है कि हम दिल्ली की ओखला विधानसभा सीट से अमानतुल्लाह खान की जीत पर जश्न मना रहे थे और मिठाई बांट रहे थे, तभी पु,लिस वहां पहुंची और अभ,द्रता व मारपी,ट की।

अमानतुल्लाह खान के परिजनों का आरोप है कि पुलि,स ने न सिर्फ बदसलूकी की, बल्कि सिर के बाल पकड़कर कर घसीटा और पि,टाई भी की। दिल्ली के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की शानदार जीत और भारतीय जनता पार्टी व कांग्रेस की करारी हार के बाद अमानतुल्लाह खान के परिजनों ने योगी की पु,लिस पर मारपीट और बदस,लूकी के आ,रोप लगाए हैं।

वहीं, मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने मारपी,ट करने के आरोप को सिरे से नकार दिया है। पुलि,स ने सफाई दी कि बिना अनुमति के जुलूस निकला जा रहा था। उनको यह समझाया गया है कि ऐसा कोई काम न करें, जिससे माहौल खराब हो। इसके बाद उनको सिर्फ रोका गया है। पुलि,स का कहना है कि बिना इजाजत जुलूस निकालने के आरोप में मु,कदमा भी दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है और मार,पीट के आरोप निराधार हैं।


बता दें कि दिल्ली की ओखला विधानसभा सीट से चुनाव जीतने वाले अमानतुल्लाह खान मूल रूप से मेरठ के अफगानपुर के रहने वाले है। अमानतुल्लाह खान की जीत पर उनके परिजन और रिश्तेदार मेरठ में जश्न मना रहे थे। यूपी पुलि,स पर आरोप है कि जश्न मना रहे लोगों और अमानतुल्लाह खान के चचेरे भाई से पु,लिस ने अभद्र,ता की और मारपीट की। आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान की भतीजी, ने वायरल करदी

परिजनों और रिश्तेदारों ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर पु,लिस पर ये आरोप लगाए हैं।खान ने भाजपा के अपने प्रतिद्वंद्वी ब्रह्म सिंह को एकेत्तर हजार से अधिक मतों के अंतर से हराया। भाजपा ने शाहीन बाग में सीएए-विरोधी प्रदर्शन को अपने चुनाव प्रचार का प्रमुख मुद्दा बना दिया था। खान को कुल एक लाख तीस हजार वोट मिले जबकि भाजपा के उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी सिंह को अट्ठावन हजार पांच सौ वोट मिले।


दिल्ली विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को सत्तर में से बासठ सीटों पर जीत मिली है, जबकि भारतीय जनता पार्टी को सिर्फ आठ सीटों से ही संतोष करना पड़ा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ समेत बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं ने भी भारतीय जनता पार्टी के लिए दिल्ली में चुनाव प्रचार किया था। हालांकि चुनाव नतीजे अनुकूल नहीं आए। इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी एक बार फिर से खाता नहीं खोल पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.