बड़ी खबर: शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों के सामने झुकी सरकार? अमित शाह ने कहा सीएए पर किसी से भी चर्चा को तैयार हूँ

दिल्ली विधा’नसभा चुनाव में बीजेपी को मिली हार के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरु’वार को दिए एक न्यूज़ चैनल को इंटरव्यू में कहा कि दिल्ली चुनाव हम गलत नी’तियों के चलते हारे है। चुनाव में देश के गद्दा’रों और भारत पाकि’स्तान जैसे बयान नहीं देने चाहिए थे। हो स’कता हो कि पार्टी नेताओं द्वारा दी गई हेट स्पीच बयान से पार्टी को नुक’सान उठाना पड़ा.

इस दौरान केंद्रीय गृह’मंत्री अमित शाह ने कहा है कि नाग’रिकता संशो’धन कानून (सीएए) को लेकर कहा की सर’कार किसी से भी चर्चा के लिए तैयार है. अमित शाह ने कहा कि मैं किसी को भी तीन दिन के भी’तर समय दूंगा जो मेरे साथ नागरि’कता संशोधन कानून से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करना चाहता है. उससे में चर्चा के लिए तैयार हूँ.

Image: CAA Raily Mumbai

शाह ने कहा, किसी ने आज तक मुझे ऐसा प्रा’वधान नहीं बताया कि सी’एए के किस प्रा’वधान के तहत वो ये मानते हैं कि ये एंटी मुस्लि’म है। अगर भा’जपा का वि’रोध ही करना है तो फिर कुछ भी हो सकता है इस विष’य पर सि’यासत जारी है उसमें हम क्या कर सकते हैं.

इस दौरान सीएए, एन’पीआर और एन’आरसी को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि विपक्ष के पास किसी तरह का तथ्या’त्मक आधार नहीं है, लिहा’जा विरोध का कोई मत’लब नहीं है.

शाह ने कहा कि म’हात्मा गांधी ने 12 जुलाई 1947 को कहा था कि जिन लोगों को पा’किस्तान से भगा’या गया उन्हें पता होना चाहि’ए की वे पूर्ण भारत के नाग’रिक हैं। उन्हें ये मह’सूस करना चाहिए कि वह भारत की सेवा करने के लिए पैदा हुए थे, इसलिए भारत उन्हें स्वी’कारने के लिए तैयार है.

शाहीन बाग़ प्रोटेस्टर्स

हम पा’किस्तान, बांग्ला’देश और अफ’गानिस्तान के जिन धार्मिक अल्प’संख्यकों से भारत आने का वादा कां’ग्रेस ने किया था उसे कांग्रेस ने कहां निभा रहे है। लेकिन कांग्रेस ने राष्ट्र’पिता महात्मा गां’धी जी की इच्छा का भी सम्मा’न नहीं किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.