सऊदी पुलिस ने हिं’दू को गा’ली देने वाले एक मुस’लमान को किया गिर’फ्तार

नई दिल्ली : भारत में इन दिनों इस्ला’मोफो’बिया का बोलबाला है. इस्ला’मोफो’बिया अर्थात मु’स्लिम विरो’धी भावना, जिसके तहत सोशल मीडिया से लेकर आम जिंदगी तक में मुस’लमानों को निशाना बनाया जा रहा है. इस्ला’म के बारे में गं’दी-गं’दी बातें की जा रही हैं. मीडिया दिन रात मुसल’मानों और इ’स्लाम को गा’ली दे रहा है, लेकिन सरकार खामोश है. समाज में ज’हर फैला रही मीडिया के खिलाफ किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. दूसरी तरफ अरब देश हैं, जहां किसी भी धर्म के खिलाफ कुछ भी बुरा-भला कहने वाले को फौरन सजा दी जाती है. जिसकी एक मिसाल सऊदी अरब में सामने आयी है.

सऊदी अरब प्रशासन ने अपने एक नागरिक को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है, जिस पर एक हिं’दू प्रवासी से गाली देने और इ’स्लाम धर्म अपनाने के लिए दबा’व डालने का आरोप है.

सऊदी प्रेस एजेंसी ने बताया कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें एक हिं’दू प्रवासी दिखायी दे रहा है, जिसे सऊदी अरब का नागरिक इ’स्लाम नहीं अपनाने, रोजा नहीं रखने के कारण अपशब्द कह रहा है और उसका अपमान कर रहा है. इस क्लिप में अपशब्द कहने वाला व्यक्ति दिखाई नहीं पड़ता.

सऊदी लोक अभियोजन से जुड़े एक निगरानी केंद्र ने वीडियो की जांच की. लोक अभियोजन विभाग के आधिकारिक सूत्र ने कहा कि इस वीडिया में दिखाया गया कि ‘‘एशियाई प्रवासी को इ’स्लाम धर्म अपनाने के नाम पर सऊदी नागरिका उसके खि’लाफ अपश:ब्दों का प्रयोग कर रहा है. लोक अभियोजन विभाग ने हिं’दू प्रवासी का अपमान करने वाले सऊदी नागरिक की गिर’फ्तारी का आदेश दिया है.

इस घटना को केंद्र कर लेखक और हिं’दू कार्यकर्ता राहुल ईस्वर ने प्रधानमंत्री मो’दी पर कटाक्ष किया है. उन्होंने उम्मीद जतायी कि भारत में भी ऐसी ही कार्रवाई होगी.

वहीं दूसरी तरफ में भारत में इ’स्लाम और मुस’लमानों के खि’लाफ ज’हर उगलने, अपशब्द कहने, गा’लियां देने, अपमान करने की पूरी छूट मिली हुई है. आमलोगों के अलावा बी’जेपी के बड़े-बड़े नेता भ’गवा संगठनों के अधिकारी खुलेआम इ’स्लाम के खि’लाफ ज’हर उगल रहे हैं. को’रोना के नाम पर मु’सलमानों पर ह’मले हो रहे हैं. हिंदूओं के इलाके में उन्हें घुसने नहीं दिया जा रहा है. उनका आर्थिक बहिष्कार किया जा रहा है. ये सब कुछ चो’री-छिपे नहीं, बल्कि सरकार की नजरों के सामने हो रहा है. सरकार खामोशी के साथ इस्ला’मोफो’बिया को बढ़ावा दे रही है.
(आपतक लाइव से)

Leave a Reply

Your email address will not be published.