बड़ा ख’जा’ना मिलने पर एर्दोगान को मि’ल रहीं दुनियां भर से मु’बारक़’बाद

नई दुनियां: फि’लिस्तीन, अजरबैजान और यूक्रेन ने काला सागर में प्राकृतिक गैस भं’डार की खोज के लिए शनिवार को तुर्की को बधाई दी। तु’र्की के संचार निदेशालय ने एक बयान में कहा कि फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने तुर्की के राष्ट्रपति तैयब ए’र्दोगन को फोन पर बधाई दी। उन्होंने फिलिस्तीन की सफलता के रूप में तुर्की की सफलता की सराहना की, जबकि एर्दोगन ने फिलिस्तीनी मुद्दे पर अं’कारा के समर्थन को दोहराया। बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों और क्षेत्रीय विकास पर चर्चा की।

अजर’बैजान के विदेश मंत्री जेहुन बेरामोव ने अपने तु’र्की समकक्ष मेवलुत कैवु’सो’ग्लू को महत्वपूर्ण खोज पर बधाई देने के लिए फोन किया। वहीं यूक्रे’नी राष्ट्रपति वलो’डिमिर ज़े’लेंस्की ने भी एर्दोगन को बधाई दी, आशा व्यक्त की कि गैस का भं’डार तुर्की को लाभ पहुंचायेगा। बयान में कहा गया है कि एर्दोगान और ज़े’लेंस्की ने द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने के लिए क्षेत्रीय विकास और कदमों पर भी चर्चा की।

अज़रबैजान के राष्ट्रपति इ’ल्हाम अलीयेव ने हाल की खोज में तुर्की की सफलता के लिए ए’र्दोगन को बधाई देते हुए एक पत्र भेजा। अलीयेव ने कहा, “मेरा मानना ​​है कि तु’र्की और अजरबै’जान के बीच भाईचारा और दोस्ती का रिश्ता मजबूत और बेहतर होता रहेगा।”

इस बीच, अरब दुनिया के प्रमुख लोगों ने भी तुर्की को उसकी नई खोजी गई प्राकृतिक गैस के लिए बधाई दी। कत’री पत्रकार जाबेर अल हरमी ने ट्विटर पर कहा कि वह तु’र्की की सफलता से प्रसन्न हैं। यह कहते हुए कि राष्ट्रपति एर्दोगन अपने देश और राष्ट्र के लिए ल’ड़ रहे थे, हर’मी ने कहा: “अरब नेता अपने ही देशों के खि’लाफ सा’जिश र’च रहे हैं और अपने स्वयं के देशों को न’ष्ट कर रहे हैं।”

इरा’की विचारक मो’हम्मद अल-कु’बैसी ने ट्विटर पर कहा, “का’ला सागर में नए ऊर्जा स्रोतों की खोज के साथ, तुर्की ने क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण स्थिति को मज’बूत किया है।” मुह’म्मद अल-मुख्तार अल-शिन’क्ती, एक मॉरीटियन लेखक, अनिया अल अफांदी, एक अल्जी’रियाई पत्रकार और हामिद अल-अली, एक कुवैती शेख ने भी ट्विटर के माध्यम से तुर्की को बधाई दी।

ट्यूनीशियाई ऊर्जा विशेषज्ञ, मोहम्मद गाजी बेन जेमिया ने अनादोलु एजेंसी को बताया कि यह एक प्रमुख खोज थी, जो ऊर्जा क्षेत्र में नई संभावनाओं और अवसरों को जन्म दे सकती है। जेमिया ने कहा कि इस खोज से तु’र्की की बाहरी निर्भरता में क’मी आएगी ।

(फेसबुक-से साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.