तब्लीगी जमात के रिहाई के मामले में AIMIM के बिहार प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल ईमान ने दिया बड़ा बयान हो रही है चर्चा

नई दिल्ली :पिछले दिनों दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात मामले को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने देश और विदेश के जमातियों पर दायर की गई FIR को ख़ारिज कर दिया है . कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा था कि इस मामले में तबलीगी जमात को बलि का बकरा बनाया गया हैं. कोर्ट ने मीडिया को भी काफी फटकार लगाई हैं.

वहीं कोर्ट का फैसला आने के बाद हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी पर तीखा हमला किया था ओवैसी ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और फैसले की सराहना करते हुए कहा था पूरी जिम्मेदारी से भारतीय जनता पार्टी की सरकार को बचाने के लिए मीडिया ने तबलीगी जमात को बलि का बकरा बनाया. मीडिया के इस पूरे प्रॉपेगेंडा के चलते देशभर में मुस्लिमों को नफरत और हिंसा का शिकार होना पड़ा हैं.

तो अब वहीं बिहार में तबलीगी जमात के निर्दोष लोगों पर चल रहे मुकद्दमा को वापस लेने के संबंध में मुख्यमंत्री बिहार के नाम पर किशनगंज जिला पदाधिकारी को AIMIM बिहार प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने ज्ञापन सौंपा है ज्ञापन सौंपने वालों में AIMIM किशनगंज विधायक क़मरुल होदा , AIMIM प्रदेश कोषाध्यक्ष मजहर उल हसन , AIMIM युवा प्रदेश अध्यक्ष आदिल हसन आजाद ,शाहीद रब्बानी शामिल थे.

ज्ञापन में कहा गया है की एक प्रॉपेगेंडा के तहत विदेशी तब्लीगी जमात को बिहार के विभिन जिलों में मुकदमा दायर करके जेल भेजद दिया गया है हम बिहार सरकार से अपील करते हैं कि तब्लीगी जमात पर लगाए गए झूठे आरोपों को वापस ले और विदेश से आये हुए तब्लीगी जमात के लोगों रिहा करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.