बिहार विधानसभा चुनाव पर तेज हुई सि’या’सी सरगर्मी, महागठबंधन पर सीट बं’टवारे को लेकर कांग्रेस और..

हाल ही में महाराष्ट्र और झारखंड में सरकार बनाने में नाकामयाब हुई भारतीय जनता पार्टी अब बिहार के विधानसभा चुनाव पर फोकस करने में जुट गई है। हालांकि उससे पहले दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। लेकिन भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में कुछ खास चुनाव प्रचार नहीं कर रही है। क्योंकि यहां पर आम आदमी पार्टी की पकड़ काफी मजबूत मानी जा रही है।

आपको बता दें कि अगले साल बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। लेकिन सीट बंटवारे को लेकर दोनों गठबंधन में अभी से ही अनबन दिखने लगी है। झारखंड चुनाव में सफलता से उत्साहित कांग्रेस जहां विपक्षी महागठबंधन में जल्द ही सीट बंटवारे को लेकर दबाव बनाए हुए हैं। वही एनडीए में जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने लोकसभा चुनाव की तरह 50-50 के अनुपात में सीट बंटवारे को नकार दिया है।

आपको बता दें कि हाल ही में हुए झारखंड विधानसभा चुनाव में जीत से उत्साहित होकर कांग्रेस बिहार में पूरी म’जबू’ती के साथ चुनावी मैदान में उतरना चाहती है। जिसके चलते उन्होंने कह दिया है कि वह विधानसभा चुनाव से करीब 6 महीने पहले ही सीट बं’टवा’रे पर फैसला करना चाहते हैं ताकि चुनाव की तैयारी करने का समय मिल सके।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस लोकसभा चुनाव में सीट बं’टवा’रे को लेकर आखिरी समय तक चली खीं’चता’न जैसी स्थिति से विधानसभा चुनाव में बचना चाहती है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि हमने राजद को अवगत कराया है कि सीट बंटवारे पर अगर पांच-छह महीने पहले ही फैसला हो जाएगा तो गठबंधन के लिए स्थिति ज्यादा मजबूत रहेगी, क्योंकि पार्टियों को अपनी तैयारी और रणनीति के लिए पूरा समय मिलेगा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह लोकसभा चुनाव में हा’र के कारण के विषय में कई बार सीट बंटवारे को लेकर अपनी बात कह चुके हैं। ऐसे में कांग्रेस विधानसभा चुनाव में इस बार ग’ल’ती करने के मू’ड में नहीं है। रिपोर्ट्स के अनुसार, अगले साल अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.