गुजरात में बीजेपी से इस्तीफा देने वाले केतन इनामदार को कांग्रेस ने दिया ये बड़ा ऑफर, मोदी-शाह के उ’ड़े हो’श..

गुजरात हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी का गढ़ माना जाता है। बीते दो दशकों से गुजरात में बीजेपी ने अपनी सत्ता कायम करने में कामयाबी हासिल की है। लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि गुजरात में भारतीय जनता पार्टी का कि’ला ढ़’ह’ने लगा है। हाल ही में खबर सामने आई है कि गुजरात बीजेपी के विधायकों के तन इमानदारी ने अपने पद से इ’स्ती’फा दे दिया है।

आपको बता दें कि बीजेपी नेता केतन ईमानदार बड़ोदरा जिले के सावली से विधानसभा अध्यक्ष थे लेकिन अब उन्होंने पार्टी छोड़ते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी से अलग हो चुके नेता केतन इनामदार का आ’रो’प है कि वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों और मंत्रियों ने उन्हें और उनके चुनाव क्षेत्र की उपेक्षा की।

इनामदार ने यह भी दावा किया कि भाजपा में बहुत से विधायक उनकी तरह ह’ता’श हैं। बीजेपी नेता ने कहा कि वह अपनी ही पार्टी के नेताओं और कुछ नौकरशाहों द्वारा अ’पमा’नि’त महसूस कर रहे थे। इसके साथ ही केतन इनामदार ने मीडिया से बात करते हुए ये भी बताया है कि ऐसा लगता है कि इस सरकार में किसी विधायक का सम्मान और प्रतिष्ठा सुरक्षित नहीं है।

मैंने बीजेपी नेताओं और नौ’करशा’हों के उपेक्षा भरे रवैये के कारण इ’स्ती’फा दिया है। उन्होंने एक चुने हुए प्रतिनिधि को वह सम्मान नहीं दिया जो दिया जाना चाहिए था। इस मामले में उन्होंने ये भी कहा कि उनके चुनावी क्षेत्र की स’मस्या’ओं को लेकर बीजेपी के मंत्री और नौकरशाह उनकी बात नहीं सुनते। उन्होंने कहा, ‘मैंने ईमेल के जरिए विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और राज्य भाजपा अध्यक्ष जीतू वाघानी को इ’स्ती’फा सौंप दिया है।’

इस मामले में बीजेपी प्रवक्ता भरत पंड्या का कहना है कि पार्टी का नेतृत्व केतन ईमानदार से बात करके इस मामले में कोई ना कोई हल निकाल लेगा। विधायक ने अपने इस्तीफे का कोई राजनीतिक कारण नहीं दिया है। लेकिन वह अपने निर्वाचन क्षेत्र में कुछ नौकरशाहों से खुश नहीं है। शायद इसलिए उन्होंने यह कदम उठाया है।

वही गुजरात विधानसभा के विपक्ष नेता परेश धनानी का कहना है कि इस मामले से गुजरात में बीजेपी की वर्तमान स्थिति उजागर हो रही है। मैं केतन इमानदार को कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का प्रस्ताव देता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.