सीएए-एनआरसी के खिलाफ 15 अगस्त से इन जगहों पर दोबारा शुरू होगा आंदोलन!

कोरोना वायरस ने जहां एक तरफ जिंदगी की रफ्तार पर लगाम लगा दी है. वहीं दूसरी तरफ इसके चलते नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और (एनआरसी) के खि”लाफ चल रहा देश”व्यापी आंदोलन भी स्थगित हो गया. लेकिन एक बार फिर से इस आंदोलन को शुरू करने की तैयारी शुरू हो चुकी है और इसके लिए स्व”तंत्रता दिवस 15 अगस्त से शुरू करने की तैयारी की जा सकती है.

Paighamtv.in की खबर के मुताबिक इस बार आंदोलन शुरू करने के लिए अलीगढ़ को चुना गया है. सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद प्राचा ने एलान किया है कि वो 15 अगस्त को अली”गढ़ में सीएए और एन”आरसी के खिलाफ धरने पर बैठेंगे. ये धरना अलीगढ़ के ईदगाह मैदान में होगा. जिसमें उनके साथ अली”गढ़ मुस्लिम यूनिव”र्सिटी के तीन छात्र भी होंगे, जो पहले भी सीएए एनआ”रसी विरोधी आंदोलन में हिस्सा ले चुके हैं.

महमूद प्राचा ने कहा कि भारत सर”कार की अनलॉक स्टेज काफी एडवांस स्टेज पर पहुंच गई है. हर प्रकार की गति”विधि को सरकार अनु”मति दे रही है. ऐसे में 15 अगस्त से फिर से आंदोलन शुरू कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट जब जग”न्नाथ पुरी की रथयात्रा निकालने की इजाजत दे सकता है, तो फिर सीएए और एनआरसी के खि”लाफ आंदोलन क्यों शुरू नहीं किया जा सकता है.

इसलिए इंशा”ल्लाह 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के दिन से दोबारा सीएए और एनआरसी पर नाराजगी जाहिर करते हुए संविधान बचाओ आं’दोलन शुरू होगा.

दूसरी तरफ अली”गढ़ में भगवा संगठन और योगी प्रशासन इस आंदोलन को रोकने के लिए हरकत में आ गये हैं. अलीगढ़ के तथा”कथित सामा”जिक कार्यकर्ताओं के एक समूह ने प्रशा”सन को पत्र लिख कर इस आंदोलन को रोकने की मांग की है.

सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद प्राचा शनि”वार को इस आंदोलन की तैयारी के लिए अली”गढ़ पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने जिन-जिन लोगों से मुला”कात की.

पुलिस उन सबसे पूछताछ कर उन्हें तंग कर रही है. उन पर दबाव बनाया जा रहा है कि वह लिख”कर दें कि कोई आंदोलन नहीं होगा.

महमूद प्राचा ने कहा कि यह पूरी तरह कानून का उल्लंघन है. पुलि”सकर्मी अब उत्पी”ड़न करने पर उतर आये हैं. उन्होंने कहा कि ना”गरिकता संशोधन कानून के संबंध में आं’दोलन खड़ा करने के लिए 15 अ”गस्त से अच्छा दिन कोई नहीं हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.