तुर्की राष्ट्रपति तै’य्यब एर्दोगान ने सुनाई एक बड़ी खुशखबरी, मु’स्लिम देशों में सबसे पहले

नई दुनियां: पूरी दुनियां इस वक्त एक बड़े बे’हरान से दो-चार हुई है जिसके बाद आलमी ताकतें बेबस सी हो गईं है सबकी निगाह इस वक्त who पर लगी हुई थी कि कोई चमत्कार हो इसी बीच रूस के बाद तुर्की सदर तैय्यब एर्दोगान ने पूरी आलमी दुनिया को एक नई खुशखबरी सुनाई — को’रोना माह’मारी के बीच तुर्की की तरह से भी बेहद अच्छी खबर सामने आईहै। जो ना सिर्फ तुर्कों को बल्कि मु’स्लिम देशो के लिए भी बेहद खुशी का सबब बनती नज़र आ रहे है। सभी मुल्क तुर्की सदर को मुबारकबाद पेश कर रँहे है । करों’ना वै’क्सीन को लेकर अभी तक सभी देश एक दूसरे के सामने उम्मीद रखें हुए थे । लेकिन अब…

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान ने 9 अगस्त को कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के आंकड़ों के अनुसार, यूएस और चीन तुर्की स्थानीय रूप से COVID -19 के खिलाफ वैक्सीन विकसित करने वाला तीसरा देश बन गया है।

उत्तर-पश्चिमी कोकेली प्रांत में गेब्ज़ जिले में तुबकाट (तुर्की के वैज्ञानिक और तकनीकी अनुसंधान परिषद) उत्कृष्टता केंद्र के उद्घाटन पर बोलते हुए, एर्दोआन ने कहा कि तुर्की ने राज्य और निजी क्षेत्रों और विश्वविद्यालयों के साथ मिलकर COVID-19 के टीके और ड्र’ग्स विकसित करने में बहुत प्रगति की है।

उन्होंने कहा, “COVID-19 टर्की प्लेटफार्म, जिसे TİBAKTAK द्वारा स्थापित किया गया है, वर्तमान में आठ विभिन्न टीकों और 10 विभिन्न चिकित्सा परियोजनाओं [COVID-19 के लिए] पर काम कर रहा है।” उन्होने बताया दो टीकों का जानवरों पर परीक्षण पूरा हो गया है। उनमें से एक ने नैतिक मंजूरी भी प्राप्त की और मनुष्यों पर अपना नैदानिक चरण शुरू किया।

(फेसबुक पेज से साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.