जहाँ से अमित शाह ने “शाहीन बाग़” को करंट मारने की बात कही उस सीट का क्या हाल है।

दिल्ली की एक सीट है बाबरपुर विधानसभा, यहाँ से भाजपा के उम्मीदवार हैं “नरेश गौर” इनके समर्थन में गृहमंत्री अमित शाह ने जाबड़ प्रचार किया, मने कतई हक़ अदा कर दिया था, यानी अपनी सारी प्रतिष्ठा दांव पर लगा दी थी। उन्होंने मंच से कहा था कि “भाइयों बटन इतनी जोर से दबाना कि बटन यहाँ बाबरपुर में दबे और उसका करंट शाहीनबाग में लगे”

पहली बात तो ये कि गृहमंत्री जी को समझना होगा होगा बटन चाहे कितने भी जोर से दबाओ उससे समान मात्रा में ही करंट निकलेगा, दुसरे अगर evm मशीनें शाहीनबाग तक बिना तार के करंट पहुंचा रही हैं तो इन मशीनों को बिजली उत्पादन में लगाया जा सकता है। इससे देश में एकदम फर्स्ट क्लास तरक्की आएगी और भारत बिना किसी ऊर्जा स्रोत के बिजली उत्पादन करने वाला दुनिया का एकमात्र देश बन जाएगा।

बहरहाल आज दिल्ली चुनाव के नतीजे आ रहे हैं और नतीजों में केजरीवाल बढ़त बनाये हुए हैं लेकिन हम यहाँ बात बाबरपुर की कर रहे हैं, बाबरपुर में अमित शाह जी के कंडीडेट नरेश गौर साहब आम आदमी पार्टी कंडीडेट गोपाल राय से भारी अंतर से पीछे चल रहे हैं, यानी बाबरपुर का करंट शाहीनबाग तो नहीं पहुंच लेकिन लगता है उलटे शाहीनबाग ने करंट मार दिया है।

दोपहर तक बाबरपुर विधानसभा सीट समेत दिल्ली की सभी विधानसभा सीटों के रुझान सामने आ चुके होंगे। आठ फरवरी को बाबरपुर विधानसभा सीट पर 65.45 फीसद वोटिंग हुई थी।

11 फरवरी 2020 को इस बार कांग्रेस से अंविक्षा त्रिपाठी, भाजपा से नरेश गौर और आम आदमी पार्टी से गोपाल राय व अन्य उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो जाएगा। मौजूदा समय में इस सीट पर आम आदमी पार्टी के गोपाल राय विधायक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.