दिल्ली पुलिस कांस्टेबल फिरोज आलम का IAS में चयन, अब बनेंगे बड़े प्रसाशनिक अधिकारी

नई दिल्ली : फिरोज मूलरूप से हापुड़ के पिलखुआ के रहने वाले हैं. 12वीं मारवाड़ इंटर कॉलेज से और राणा डिग्री कॉलेज से ग्रेजुएट हुए. 2010 में दिल्ली पुलिस में बतौर सिपाही भर्ती हुए. PCR यूनिट में तैनात हुए. पांच बार UPSC की परीक्षा दी, लेकिन सफलता नहीं मिली थी. ये उनका छठा और लास्ट अटेम्प्ट था, जिसमें उन्हें सफलता मिली. उन्होंने 645वीं रैंक हासिल की है. अब सोशल मीडिया पर इन्हें रीयल लाइफ इमरान अंसारी कहा जा रहा है. लोग बधाई दे रहे हैं.

हाल ही में अमेज़न प्राइम पर रिलीज हुई वेब सीरीज पाताल लोक काफी चर्चा में रही थी। इस वेब सीरीज में एक पुलिस कांस्टेबल इमरान अंसारी का किरदार था, जो यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करता हुआ दिखाया जाता है और इस परीक्षा में पास भी हो जाता है। इसी से मिलती-जुलती कहानी है दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल फिरोज आलम की। जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा 2019 को पास कर 645 रैंक हासिल किया है।

दिल्ली पुलिस के पूरे डिपार्टमेंट में इस वक्त इस बात की चर्चा चल रही है कि वेब सीरीज पाताल लोक में जिस इमरान अंसारी नाम के कॉन्स्टेबल की कहानी को दिखाया गया है। वह फिरोज आलम पर ही आधारित है।

आपको बता दें कि मूल रूप से उत्तर प्रदेश के हापुड़ स्थित पिलखुआ के पास देहपा कमालपुर गांव के रहने वाले फिरोज आलम ने साल 2010 में दिल्ली पुलिस ज्वाइन की थी। कांस्टेबल के पद पर रहते हुए फ़िरोज़ ने ग्रेजुएशन भी की। जिसके बाद उन्होंने यूपीएससी एग्जाम क्लियर कर बड़ा अधिकारी बनकर देश और समाज की सेवा करने के बारे में सोचा।

इससे पहले वह पांच बार यूपीएससी की परीक्षा दे चुके हैं, लेकिन असफल रहे। पांच बार विफल होने के बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी, आखिरकार छठी बार में उन्हें कामयाबी मिली। जोकि फ़िरोज़ आलम का लास्ट चांस था।

फिरोज अलाम ने बताया कि दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल भर्ती होने के बाद वह अपने अधिकारियों की कार्यशैली को देखकर काफी प्रभावित हुए। जिसके बाद उन्होंने यह ठान लिया कि उसे भी यूपीएससी परीक्षा पास करनी है और एक बड़ा अधिकारी बनकर समाज की सेवा करनी है।

फ़िरोज़ ने बताया कि इस काम में उसे दिल्ली पुलिस की तरफ से काफी सहयोग भी मिला। फ़िरोज़ आलम के परिवार में छह भाई और चार बहनें हैं। भाई-बहनों में फिरोज सातवें नबर पर है। फिरोज आलम के यूपीएससी क्लियर करने पर पूरे परिवार में खुशी का माहौल है।

(बोलता हिंदुस्तान से साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.