वर्ल्ड कप के फाइनल में ल’ड़ाई करने वाले 5 खिलाड़ियों को दी ICC ने सजा, जिनमें दो खिलाड़ी…

9 फरवरी को भारत और बांग्लादेश की युवा टीमों के बीच आइसीसी अंडर 19 विश्व कप का फाइनल मुकाबला खेला गया, जिसे बांग्लादेश ने पहली बार वर्ल्ड कप का खिताब हासिल किया. हालांकि, मैच के दौरान और मैच के बाद में भारत और बांग्ला’देश के खिलाड़ियों में बहस हो गई. दोनों देशों के खिला’ड़ियों में बात धक्का’मुक्की तक पहुंच गई थी.

इसी के चलते इस जेंटल’मैन गेम की मर्यादा बनाए रखने के लिए इंटरने’शनल क्रिकेट काउं’सिल यानी आइसीसी ने अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल में विवाद पैदा करने वाले खिला’ड़ियों को खोज निकाला है। आइसीसी ने विश्व कप फाइनल में माहौल खराब करने के लिए 5 खिला’ड़ियों को दोषी पाया है, जिनमें 3 बांग्ला’देशी खिलाड़ी हैं, जबकि 2 भार’तीय खिलाड़ी का नाम भी शामिल हैं.

Picture: Getty Images

इन पांचों खिला’ड़ियों को आइसीसी ने सजा दी है। जिन पांच खिलाड़ियों को आइसीसी ने दो’षी पाया है उनमें बांग्लादेश के खिलाड़ी मोहम्मद तौह’विद ह्रदोय, शमीम हुसैन और रकिबुल हनस का नाम शामिल है।

वहीं, भारतीय खिला’ड़ियों में नाम वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करने वाले और आइ’सीसी की वर्ल्ड कप टीम में चुने गए रवि बिश्नोई और आकाश सिंह का नाम शामिल है। इन सभी को आइ’सीसी ने अपने आचार संहिता के आर्टि’कल 2.21 को तोड़ने का दोषी पाया है.

जबकि बिश्नोई पर 2.5 आर्टिकल का उल्लं’घन करने का दोषी पाया गया है. इन सभी पांच खिला’ड़ियों ने आइसीसी अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल के मैच रेफरी Graeme Labrooy द्वारा लगाए गए आरो’पों को स्वी’कार कर लिया है।

किसको मिली कितनी सजा

बांग्लादेश को Towhid Hridoy को Article 2.21 तोड़ने का दोषी पाया है और उन्हें 10 suspension प्वाइंट्स मिले हैं, जो 6 डेमेरिट प्वाइंट के बराबर हैं। ये प्वाइंट उनके खाते में अगले दो साल के लिए जुड़ गए हैं। ह्रदोय अपनी देश के लिए अगले 10 वनडे और टी20 इंटरनेशनल मैच न तो सीनियर टीम के लिए और न ही जूनियर टीम के लिए खेल पाएंगे।

बांग्लादेश के ही दूसरे खिलाड़ी शमीम हुसैन ने भी अपनी सजा कबूल कर ली है कि उन्होंने Article 2.21 को तोड़ा है। इनको आइसीसी ने 8 सस्पेंशन प्वाइंट दिए हैं जो 6 डेमेरिट प्वाइंट्स के बराबर हैं। इनके खाते में भी 2 साल तक ये प्वाइंट्स जुड़े रहेंगे। हुसैन भी अपने देश की किसी टीम के लिए 6 टी20 और वनडे मैच नहीं खेल पाएंगे। वहीं, रकिबुल हसन को भी इसी आर्टिकल के तहत दोषी पाया गया है, जिन्हें 4 सस्पेंशन प्वाइंट्स मिले हैं जो 5 डेमेरिट प्वाइंट के बराबर हैं।

इसके अलावा रवि बिश्नोई को आइसीसी के कोड ऑफ कंडक्ट के 2.5 आर्टिकल को तोड़ने के लेवल 1 का दोषी पाया गया है, जिसमें उन्होंने मैच के दौरान विपक्षी खिलाड़ियों के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग किया था। अविषेक दास को आउट करने के बाद उन्होंने गलत व्यवहार किया है। ऐसे में इसलिए उनको 2 डेमेरिट प्वाइंट मिले हैं। इस तरह उनको अगले 2 साल तक के लिए 7 डेमेरिट प्वाइंट मिल गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.