U19 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत में किस टीम का पलड़ा भारी है?

U19 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत में किस टीम का पलड़ा भारी है?अंडर-19 में भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत में पाकिस्तानी टीम का पलड़ा भारी है.भारत बनाम पाकिस्तान. ये जहां भी लिखा दिख जाए, वहां हाईवोल्टेज ड्रामे का पूरा यकीन रहता है. अंडर-19 वर्ल्ड कप का 13वां सीजन दक्षिण अफ़्रीका में खेला जा रहा है.

भारत और पाकिस्तान अंडर-19 वर्ल्ड कप के पहले सेमीफ़ाइनल में भिड़ने जा रहे हैं. ये पहली बार नहीं है, जब अंडर-19 वर्ल्ड कप में दोनों टीमें एक-दूसरे के ख़िलाफ़ उतर रही हैं.अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान नौ बार एक-दूसरे का सामना कर चुके हैं. सीनियर लेवल वाले वर्ल्ड कप में पाकिस्तान अभी तक अपनी पहली जीत तलाश रहा है, लेकिन अंडर-19 में उसका पलड़ा भारी नज़र आता है.

अंडर-19 वर्ल्ड कप की शुरुआत 1988 के साल में हुई. तब उसे यूथ वर्ल्ड कप के नाम से जाना जाता था. पहला टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलिया ने जीता. फाइनल में पाकिस्तान को हराकर. भारत पहले टूर्नामेंट में छठे नंबर पर था. पहले और दूसरे यूथ वर्ल्ड कप (अब अंडर-19 वर्ल्ड कप) के बीच दस सालों का गैप था. 1998 में इस टूर्नामेंट का दूसरा संस्करण खेला गया. और फिर ये हर दो साल पर आयोजित होने लगा.तारीख 02 मार्च, 1988. टॉस पाक कप्तान ज़हूर इलाही ने जीता. टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 194 रन का स्कोर खड़ा किया.

पाकिस्तान की तरफ से सबसे ज्यादा शाहिद अनवर ने 43 और इंजमाम उल हक़ ने 39 रनों की पारी खेली थी.195 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंडिया यंग क्रिकेटर्स की टीम 39.3 ओवरों में 126 के स्कोर पर सिमट चुकी थी. सबसे ज्यादा 30 रन कप्तान अर्जन कृपाल सिंह ने बनाए थे. अंडर-19 वर्ल्ड कप की पहली भिड़ंत पाकिस्तान ने 68 रनों के अंतर से अपने नाम की. पाकिस्तान फाइनल तक पहुंचा. फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया ने पटखनी दे दी.

तारीख थी 29 जनवरी 1998 की. भारत और पाकिस्तान सुपर-8 की जंग में एक-दूसरे के सामने थे. भारत की कप्तानी अमित अनिल पगणिस कर रहे थे. जबकि पाकिस्तान की कमान बाज़िद खान के हाथों में थी. इस मैच में पाकिस्तान की टीम में इमरान ताहिर भी खेल रहे थे. वही ताहिर जो बाद में दक्षिण अफ्रीका के सबसे बेहतरीन स्पिन गेंदबाज बने.

मैच पर लौटते हैं. पाकिस्तान की टीम ने पहले बैटिंग की. और बनाए 46 ओवरों में 188 रन. सबसे ज्यादा 45 रन इनाम उल हक़ ने बनाए थे. कप्तान पगणिस और मोहम्मद कैफ के पचासे की बदौलत भारत ने पांच विकेट खोकर लक्ष्य पार कर लिया. वीरेंदर सहवाग इस मैच में बिना एक भी गेंद खेले शून्य के स्कोर पर रन आउट हो गए थे. भारत और पाकिस्तान सुपर-8 से आगे नहीं बढ़ पाए.

अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान की तीसरी भिड़ंत 2002 में हुई. 31 जनवरी 2002. न्यूज़ीलैंड का लिंकन पार्क. पाकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को पहले बैटिंग के लिए बुलाया. भारतीय टीम 48.5 ओवर्स के बाद 181 के स्कोर पर ढेर हो गई. पाकिस्तान को भी काफी मशक्कत करनी पड़ी. लेकिन कप्तान सलमान बट्ट ने एक छोर संभाले रखा. बट्ट के नाबाद 85 रनों की बदौलत पाकिस्तान ने भारत को दो विकेट से शिकस्त दे दी.

इस सीजन में भारत सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका के हाथों पिटकर बाहर हो गया था. पाकिस्तानी टीम नॉकआउट स्टेज तक भी नहीं पहुंच पाई थी.अंडर-19 वर्ल्ड कप का पांचवां सीजन बांग्लादेश में खेला गया. 29 फरवरी 2004. राजधानी ढाका में भारत-पाकिस्तान सेमीफाइनल मुकाबला खेलने उतरे. टॉस इंडिया अंडर-19 के कप्तान दिनेश कार्तिक ने जीता. पहले बैटिंग का डिसिजन ग़लत साबित हुआ. पूरी टीम 169 के स्कोर पर पवेलियन लौट चुकी थी. रोबिन उथप्ता ने सबसे ज्यादा 33 रन बनाए थे.

पाकिस्तान ने पांच विकेट खोकर लक्ष्य पार कर लिया था. तारिक़ महमूद और फ़वाद आलम ने 88 रनों की नाबाद साझेदारी की बदौलत पाकिस्तान आसानी से फ़ाइनल में पहुंची. फ़ाइनल में पाकिस्तान ने वेस्टइंडीज को शिकस्त देकर पहली बार अंडर-19 वर्ल्ड कप उठाने का सुख पाया.

पिछले सीजन में सेमीफाइनल में भिड़ने वाले भारत-पाकिस्तान इस बार फ़ाइनल मुकाबले में एक-दूसरे के सामने थे. 19 फरवरी 2006. कोलंबो का रणसिंघे प्रेमदासा स्टेडियम. टॉस पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद ने जीता और पहले बैटिंग का डिसिजन लिया. पाक टीम 109 के स्कोर पर गुल हो चुकी थी. पीयूष चावला ने चार जबकि रविंद्र जडेजा ने तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखाई थी.


इस बार भारत और पाकिस्तान अंडर-19 वर्ल्ड कप के क्वार्टर-फाइनल में आमने-सामने थे. 23 जनवरी 2010 को न्यूज़ीलैंड के लिंकन पार्क के मैदान में. पहले बैटिंग कर रही भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. लोकेश राहुल शून्य, जबकि मयंक अग्रवाल दो रन बनाकर आउट हो गए. खराब मौसम की वजह से मुकाबला 23-23 ओवरों का कर दिया गया था. भारत ने पाकिस्तान के सामने 115 रनों का लक्ष्य रखा था.

जवाब में अहमद शहजाद और बाबर आज़म की सलामी जोड़ी 11 के स्कोर पर पवेलियन में बैठी नज़र आई. बेहद रोमांचक मुकाबले में पाकिस्तान ने तीन गेंदें शेष रहते आठ विकेट खोकर लक्ष्य भेद दिया था. चार विकेट लेने वाले फ़याज़ बट्ट मैन ऑफ़ द मैच बने. पाकिस्तान की टीम फाइनल तक पहुंची. फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने बाजी मार ली.

इस बार मेजबानी की ज़िम्मेदारी ऑस्ट्रेलिया के पास थी. भारत-पाकिस्तान एक बार फिर से क्वार्टर-फाइनल में टकरा गए. 20 अगस्त 2012 को टाउंसविले का मैदान. पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 136 रन बनाए थे. पाक कैप्टन बाबर आज़म ने सबसे ज्यादा 50 रन स्कोर किया था.

भारतीय टीम को इस लक्ष्य तक पहुंचने में पसीने छूट गए थे. बाबा अपराजित के 51 और विजय ज़ोल के 36 रनों की बदौलत भारत ने वो मैच एक विकेट से जीता था. भारतीय टीम फाइनल तक पहुंची. फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से हराया. कप्तान उन्मुक्त चंद को शतक लगाने के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच के खिताब से नवाजा गया था.


2014 का अंडर-19 वर्ल्ड कप संयुक्त अरब अमीरात में खेला गया. दुबई, शारजाह और आबू धामी के मैदानों पर. भारत और पाकिस्तान लीग स्टेज में ही एक-दूसरे के ख़िलाफ़ उतरे. 15 फरवरी 2004 को मुकाबला हुआ. दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में. कप्तान विजय ज़ोल ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग चुनी. सरफराज खान के 74 और संजू सैमसन के 68 रनों के दम पर भारत ने 50 ओवर खेलकर 262 रन बनाए.

जवाब में पाकिस्तान की सलामी जोड़ी ने 109 रन जोड़ लिए थे. लेकिन उसके बाद उनका कोई भी बल्लेबाज टिक कर नहीं खेल पाया. पाक टीम 222 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. भारत ने वो मुकाबला 40 रनों के अंतर से अपने नाम किया था. भारत क्वार्टरफाइनल में इंग्लैंड से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया. पाकिस्तान फाइनल में पहुंचा. वहां दक्षिण अफ़्रीका ने पाकिस्तान को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया.


अंडर-19 वर्ल्ड कप में आज से पहले भारत और पाकिस्तान की आखिरी भिड़ंत 30 जून 2018 को हुई थी. न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च मेें सेमीफाइनल था. कप्तान पृथ्वी शॉ ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग की. शुभमन गिल के 102, मनजोत कालरा के 47 और पृथ्वी शॉ के 41 रनों की बदौलत भारत ने 272 का स्कोर खड़ा किया. जवाब में पाकिस्तान की टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई. पूरी टीम 69 के स्कोर पर धराशायी हो चुकी थी. भारत ने वो मैच 203 रनों के अंतर से अपने नाम किया.

फाइनल में भारत का सामना ऑस्ट्रेलिया से था. एकतरफा मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से शिकस्त दी. और चौथी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप चैंपियन बने.देखना दिलचस्प होगा कि विजय रथ पर सवार भारत अंडर-19 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ हार-जीत का अंतर बराबर कर पाता है या नहीं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.