कपिल मिश्रा, जिन्होंने सारा दिल्ली सर पे उठाया हुआ था, उनका क्या हुआ? जानिए

आम आदमी पार्टी ने 2020 के विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है. पूरे देश की नजरें इसके नतीजों पर टिकी थी. दिल्ली की जिन सीटों के नतीजे पर सभी की निगाहें थीं, उनमें मॉडल’टाउन सीट भी शामिल थी. अब मॉडल टाउन सीट के नतीजे के अनु’सार, भाजपा के कपिल मिश्रा यहां से हार गए हैं। आम आदमी पार्टी के अखिलेश पति त्रिपाठी ने मॉडल टाउन सीट से जीत दर्ज की है.

नतीजे के अनुसार, आप के अखि’लेश पति त्रिपाठी को चुनाव में 52 प्रतिशत से ज्यादा वोट मिले हैं. वहीं कपिल मिश्रा को सिर्फ 41 फीसदी ही मत मिल सके। कांग्रेस उम्मी’दवार का यहां भी बुरा हाल रहा और अकांक्षा ओला को सिर्फ 4 फीसदी ही मत मिले. चुनाव नतीजे के बाद कपिल मिश्रा ने अरविंद केज’रीवाल को जीत की बधाई दी और कहा कि “मैं आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल को उनकी जीत पर बधाई देता हूं. लगा’तार पांचवे राज्य में भाजपा की हार हुई है.

कपिल मिश्रा
तस्वीर: फेसबुक (सोशल मीडिया)

इसका मतलब ये है कि हम लोगों से जुड़ने में कहीं ना कहीं चूक गए।” बता दें कि कपिल मि’श्रा चुनाव प्रचार के दौरान अपने बयानों को लेकर खूब चर्चा में रहे थे और ती’खे बयानों के चलते चुनाव आ’योग ने उन पर कार्रवाई भी की थी.

कपिल मिश्रा ने चुनाव प्रचार के दौरान अपने एक ट्वीट में कहा था कि ‘आप और कांग्रेस ने शाहीन बाग जैसे मिनी पाकि’स्तान खड़े किए हैं। जवाब में 8 फरवरी को हिन्दुस्तान खड़ा होगा। जब जब देश’द्रो’ही भारत में पाकि’स्तान खड़ा करेंगे, तब तब देशभक्तों का हिन्दुस्तान खड़ा होगा।’

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में कपिल मिश्रा ने लिखा था कि ‘8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिन्दुस्तान और पाकि’स्तान का मुका’बला होगा।’ बीते विधानसभा चुनाव में कपिल मिश्रा आम आदमी पार्टी के टिकट पर विधायक चुने गए थे।

हालांकि बाद में पार्टी से मन’मुटाव होने के बाद वह भाजपा के समर्थन में आ गए थे। इस बार के चुनाव में कपिल मिश्रा भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे, लेकिन जीत हासिल नहीं कर सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published.