बाबरी मस्जिद के मामले में इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग कांग्रेस पे जम कर बरशी केरल की राजनीति में आया नया मोड़

’ममं’दिर जन्म’भू’मि का भू’मि’पू’जन हो गया। पीएम न’रेंद्र मो’दी, यो’गी आदि’त्य’नाथ और तमाम लोग जिन्हें आमंत्रण दिया गया था वो वहां पर मौजूद थे। इस मौके तमाम नेताओ , सेलेब्रेटी सहित आम लोगो ने भी इसकी बधाई दी लेकिन कां’ग्रेस पार्टी के नेताओं द्वारा किए गए ट्वीट से कां’ग्रेस चौ’तरफा घि’रती हुई आ रही है ।

कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम कमलनाथ ने रा’म मं’दि’र के लिए चां’दी की ईट भेज’ने सम्बंधित ट्वीट किया था इसके बाद कां’ग्रेस नेता प्रि’यं’का गां’धी’ का भी इससे संबंधित ट्वीट आया और उन्होंने कहा कि रा’म’ सबके है, रा’म सबमें में । कां’ग्रेस नेता कम’लनाथ ने 5 अगसत को एक ट्वीट में लिखा कि राजी’व गां’धी ने टा’ला खुल’वा’या था, इसके श्रेय किसी ओर को नही मिलना चाहिए ।


कांग्रेस के रा’म मं’दिर भू’मि’पू’जन के सम’र्थ’न पर लगातार रहे बयानों को लेकर इंडि’यन यूनि’यन मुस्लिम लीग ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई। इं’डियन मुस्लि’म ली’ग देश की सबसे ज्यादा विधायक और सांसद रखने वाली मुस्लिम पार्टी है । केरल की यह पार्टी कई बार कांग्रेस के साथ मिलकर सत्ता में भी रह चुकी है । एक जमाने मे इनका सीएम भी रहा था ।

IUML का साउथ में ज्यादा विस्तार है इसके अलावा उसे देश के दूसरे हिस्सों में कामयाबी नही मिली है । यूपी, झारखंड, दिल्ली से लेकर बंगाल में मुस्लिम लीग ने पैर पसारने की बहुत कोशिश की लेकिन उसे सफलता केरल की तरह नही प्राप्त हुई । केरल में मुस्लिम लीग के केरल में 18 विधायक है जबकिं तमिलनाडु में कडायनल्लूर से Kam अब्दुबकर विधायक है ।

इसके अलावा इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के 2 लोकसभा सांसद और 1 राज्यसभा सांसद भी है । बता दे, देश में iuml ऐसी मुस्लिम पार्टी है जिसके पास सबसे ज्यादा विधायक, सांसद है इसके बाद हैदराबाद की पार्टी AIMIM का नाम आता है ।IUMl की कोझिकोड में बुलाई गई बैठक में इस पार्टी के प्रमुख नेता पणककड हैद राली शिहाब थंगल की अध्यक्षता में हुई है। बता दे कि आईयूएमएल फ्रंट यूडीएफ का दूसरा सबसे बड़ा घटक है ।

मुस्लिम लीग के नेता म’न्दिर के निर्मा’ण को लेकर खुश नजर नही आ रहे है। प्रि’य’न्का ग़ांधी ने बीते दिनों ही ट्विटर पर मन्दि’र को लेकर खु’शी जाहिर की थी और कहा था कि रा’म सबके है और रा’म सबके साथ है।पार्टी के नेता कहा रहे है कि रा’जीव ग़ांधी सबसे पहले मन्दि’र मु’द्दे पर ग’म्भी’र क’दम उठा रहे थे।

जब वो प्र’धान’मंत्री थे तो उन्होंने रा’म मं’दिर के ता’ले ‘खोल’ने की अ’नु’मति दी थी और फिर 1989 में शि’ला’न्यास की सुविधा दी।पीवी नरसिंहा राव के कार्यकाल के दौरान 1992 में म’स्जि’द का वि’ध्वं’स हुआ और उनकी सर’का’र के तहत आ’स्सन भू’मि का अधिग्र’हण किया गया।नरें’द्र मो’दी ने कहा है को रा’म मं’दिर ह’मारी सांस्कृ’तिक का आधु’निक प्रती’क बनेगा। रा’ष्ट्री’य भा’व’ना का प्र’ती’क है।

मुस्लिम पर्सनल बर्ड ने बीते दिनों ही अपने बयान में कहा है कि बा’बरी म’स्जिद कल भी थी और आज भी है और कल भी रहेगी।म’स्जि’द में मू’र्ति’या रख देने से पूजा पाठ शुरू कर देने से या फिर एक लंबे अरसे तक नमा’ज पर प’बंदी लगा देने से म”स्जिद की हैसि’यत ख’त्म नही हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.