बड़ी खबर-केरोना जैसी बीमारी का इलाज भारत ने ढूंढ लिया, फाइनल रिपोर्ट-//

चीन इन दिनों कोरोना वायरस की भीषण चपेट में है और वहां इस वायरस की वजह से अब तक 900 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. वैज्ञानिक दिन-रात इस बीमारी की काट ढूंढने में लगे हैं. लेकिन कोशिशें नाकाम ही साबित हो रही हैं. मगर भारत में इस वायरस से लड़ने की एक उम्मीद जगी है.

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि केरल के त्रिशूर में कोरोना वायरस से पीड़ित एक शख्स अब तेजी से रिकवर कर रहा है. पहले जब उसका टेस्ट किया गया था तो उसमें कोरोना वायरस पाए जाने की पुष्टि हुई थी लेकिन जब इलाज के कुछ दिनों बाद फिर उसकी जांच की गई तो उसका रिजल्ट निगेटिव आया. इसका मतलब यह हुआ कि उस पर इलाज और दवाएं काम आई हैं.


इस बीमार शख्स का सैंपल केरल में राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान की यूनिट (यूआईवी) की तरफ से लिया गया था. अब उस युवक के इलाज को लेकर स्वास्थ्य विभाग यूआईवी की अंतिम रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है. बता दें कि उसे 30 जनवरी को कोरोना वायरस से पीड़ित घोषित किया गया था.

अभी तक भारत में कोरोना वायरस से तीन लोगों के पीड़ित होने की पुष्टि हुई है. हजारों ऐसे लोगों को डॉक्टरों की गहन निगरानी में रखा गया है जो इससे बुरी तरह प्रभावित चीन या फिर दूसरे देशों से लौटे हैं. बता दें कि इस घातक कोरोना वायरस की वजह से चीन में अब तक 908 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन के सोमवार को दिए गए आधिकारिक बयान के मुताबिक 40 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से पीड़ित हैं.

सुनने में आ रहा है कि केरोना वायरस का इलाज भारत के बड़े वैज्ञानिक ने इसका इलाज ढूंढ लिया है जिसे दुनिया की सबसे बड़ी बीमारी माना जा रहा है ।चीन में अब तक एक हजार से भी ज्यादा मोत हो चुकी है जिससे पूरी दुनिया इससे डरी हुई है क्योंकि इसका इलाज चीन जैसे बड़े देश से भी नही हो रहा है इसका इलाज अब भारत ने ढूंढ़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published.