महाराष्ट्र में मुस्लिम समुदाय ने 10 बेड वाला आईसीयू दान किया है, भक्त भी करवा सकते है इलाज़–

देश में कोरोना महामारी अपना विकराल रूप धारण कर चुकी है अब तक 3000000 मामले सामने आ चुके हैं जिससे सरकार में खासा परेशानी बढ़ गई है लोग रोड पर पर दिखाई दे रहे हैं मौजूदा हालत में लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है ऐसे भीषण विकराल समय में महाराष्ट्र में मुस्लिम समुदाय सामने आया जिसने सरकार को icu बना कर दिया जिस से लोगो का इलाज़ हो सके ।

देश मे सरकारी हॉस्पिटल कम मात्रा में है. एक हेल्थ रिपोर्ट्स के अनुसार भारत में प्रति 1000 लोगों पर 0.55 बेड मौजूद है. ऐसे में कोविड-19 से बचाव के लिए हॉस्पिटल्स में बेड़ों की कम संख्या एक समस्या उत्पन्न करती है. इसी बीच महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले से एक खबर सामने आई हैं ।

कोल्हापुर जिले के इचलकरंजी शहर में कोरोना से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए मुस्लिम समुदाय ने कोरोना से 10 बेड वाला एक आईसीयू राज्य सरकार को दान में दिया है. खास बात यह है कि मुस्लिम समुदाय ने राज्य सरकार की अपील के बाद इस रमजान पर अनावश्यक खर्च कम किया ।

इस ईद पर जनता 36 लाख रुपये की बचत की और इसी बचत से 10 बेड का आईसीयू सरकार को दिए. आपको बता दें कि ईद के मौके पर सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इंदिरा गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल में मुस्लिम समुदाय द्वार दान किये गए इस 10 बेड वाली आईसीयू यूनिट का उद्घाटन किया ।

आपको बता दें कि यह इचलकरंजी शहर का पहला सरकारी अस्पताल बना है जिसमें अब आईसीयू की सुविधा उपलब्ध कराई जा सकेगी. इसके साथ ही कोरोना से चल रही इस जं’ग में राज्य की सरकार ने एक और कदम आगे रखा है ।

मुस्लिम समुदाय की तरफ से की गई 10 बेड की यह मदद भले ही ज्यादा बड़ी नजर ना आ रही हो लेकिन यहां आईसीयू की सुविधा ही नहीं थी वहां के लिए यह मदद एक वरदान साबित हो सकती हैं. समुदाय द्वारा किये गया यह प्रयास और सबके लिए प्रेरणा का स्त्रोत बनता हैं ।

वहीं 10 बेड वाली आईसीयू यूनिट के ऑनलाइन उद्घाटन के दौरान सूबे के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि इचलकरंजी में मुस्लिम समुदाय द्वारा 10 बेड के आईसीयू यूनिट के लिए 36 लाख रुपए का जो दान किया गया है वह देश के सामने एक आदर्श मिशाल पेश करता है यह सिखाता है कि त्योहार कैसे मनाया जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.