कश्मीर: करगिल के मौहम्मद नवाज बने IAS, अब बनेंगे बड़े अधिकारी

नई दिल्ली: जब एक लंबे इंतेज़ार के बाद UPSC 2019 का रिजल्ट आया कश्मीर के कारगिल रहने वाले युवाओं में नई प्रेरणा आई । जब 4 अगस्त 2020 को आ गया गया था । यूपीएससी फाइनल रिजल्ट में 829 कैंडिडेट सेलेक्ट हुए है। इनमें 16 कैंडिडेट्स ऐसे है जो जम्मू कश्मीर और लद्दाख से है। हम आपको यूपीएससी में सलेक्ट हुए है हर शख्श के बारे में बारी बारी से बतायेगे, जिनकी चर्चा सोशल मिडीया पर खूब हो रही है और बधाई दे रहे है ।

आइए तो उनके बारे में जानते है। उनमें से एक नाम है मोहम्मद नवाज शराफ । 29 साल के नवाज करगिल से ताल्लुक रखते है। इन्होंने यूपीएससी में पाँच प्रयास के बाद 778 रैंक हासील की है। नवाज बरेली में इंडियन वेटनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट सेपोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे है और इसी दौरान इन्हें सफलता मिली है ।

2009 में शाह फैसल कश्मीर ही नही देश मे काफी चर्चित हुए थे । उनका सिविल सर्विस में पहला स्थान रहा था, इन्ही से ही नवाज ने प्रेरणा मिली है और फैसला के नक्शे कदम पर चलते हुए नवाज ने आज ये मुकाम पा लिया । नवाज का कहना है कि उन्होंने सिविल सर्विसेज पहले प्रयास में ही निकाल लिया होता लेकिन इंटरव्यू में छः नम्बर से चुंक गए थे ।

लेकिन इसके बाद भी उन्होंने कभी भी हिम्मत नही हारी आगे उन्होंने कहा मैं अल्लाह का शुक्रिया करना चाहता हूं, उन्होंने ये भी कहा कि इस उद्देश्य को पाने के किये रात दिन बहुत मेहनत की।बता दे, इस साल यूपीएससी में पहले स्थान पर इंदौर के प्रदीप है, जी पिछली बार यूपीएससी में टॉप 100में थे लेकिन उन्होंने दुबारा प्रयास किया और पहले नम्बर पर । बता दे, अभी भी उनके पिता पेट्रोल पम्प पर नॉकरी करते है ।

वही अगर कश्मीर पर पहले पायदान पर नादिया बैग है जिन्होंने दिल्ली में रहकर दूसरे प्रयास में यूपीएससी में 350 वी रैंक हासिल की । नदियां ने मीडिया को बताया कि उन्होंने दिल्ली में रहकर पढ़ाई की और वह 12 वी के बाद से ही जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया ।

बता दे, इस बार यूपीएससी में 829 कैंडिडेट का सिलेक्शन हुआ इसमें से एससी एसटी के करीब 196 छात्र छात्राएं बताई जा रही है । अगर इस तरह से मुस्लिम में यूपीएससी के पास होने का प्रतिशत निकाला जाए 7.1 होता है जबकि 829 में मुस्लिम कैंडिडेट के पास होने का प्रतिशत निकाला जाए तो 5 फीसद के आस पास बैठता है ।

बता दे, इस बार यूपीएससी में कुल 44 मुस्लिम कैंडिडते पास हुए है । इसमें टॉप 100 में सिर्फ 1 ही मुस्लिम ही आया है, वो कैंडिडेट केरल की है । आपको बता दे, यूपीएससी का एग्जाम देश का सबसे बड़ा एग्जाम मानां जा ता है । इस परीक्षा की तैयारी जाती है ।

( फेसबुक और ये है मेरा इंडिया से साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.