मोईन अली ने कप्तानी मिलने के बाद किया कमाल, हासिल की बड़ी उपलब्धि

नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को साउथम्पटन में खेले गए तीसरे टी20 मैच में इंग्लैंड की कप्तानी करते हुए मोईन अली ने अपना नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज करा लिया। इसके साथ ही मोईन अली 2003 में नासिर हुसैन के बाद किसी भी फॉर्मेट में इंग्लैंड की कप्तानी करने वाले एशियाई मूल के क्रिकेटर बन गए। साथ ही वह छोटे फॉर्मेट में इंग्लैंड की कप्तानी करने वाले पहले ब्रिटिश एशियन क्रिकेटर भी बन गए।

मोईन अली की कप्तानी में पहले मैच में इंग्लैंड को मिली शिकस्त
नियमित कप्तान इयोन मोर्गन और उपकप्तान जोस बटलर की गैरमौजूदगी में टॉस के लिए आए मोईन अली ने कहा, ‘मेरे देश की कप्तानी करना एक सम्मान की बात है। ये जिम्मेदारी निभाना सच में अच्छा है। मुझे नहीं लगता कि मैं मोर्गन जितना अच्छा होऊंगा लेकिन मोर्गन जैसे कप्तान हमेशा टीम में अन्य नेता भी पैदा करते हैं।’

हालांकि मोईन अली के लिए कप्तानी में डेब्यू यादगार नहीं रहा और उनकी टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 5 विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी। इस हार के बावजूद इंग्लैंड की टीम तीन मैचों की टी20 सीरीज 2-1 से जीतने में सफल रही।

ऑस्ट्रेलिया ने तीसरा टी20 5 विकेट से जीता
इंग्लैंड ने टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए जॉनी बेयरस्टो की 55 रन की शानदार अर्धशतकीय पारी की मदद से 20 ओवरों में 6 विकेट पर 145 रन बनाए, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने तीन गेंदे बाकी रहती ही एरॉन फिंच और मिशेल मार्श की 39-39 रन की पारियों की मदद से 5 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

तीसरे टी20 में जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने टी20 रैंकिंग में अपना शीर्ष स्थान फिर से हासिल कर लिया, जो उसने रविवार को हार के साथ इंग्लैंड के हाथों गंवा दिया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.