मुख्तार अंसारी पर टूटा दुःखो का पहाड़, अब दोनों बेटों पर लगे कई बड़े आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बाहुबली की छवि रखने वाले मुख्तार अंसारी पर योगी आदित्यनाथ सरकार लगातार शिकंजा कसती जा रही है। अब मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर भी बड़ी कार्रवाई की गई है। मुख्तार अंसारी के बेटे उमर और अब्बास अंसारी के खिलाफ इनाम घोषित किया गया है। इनपर 25-25 हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया है। उमर और अब्बास पर यह कार्रवाई लखनऊ के हजरतगंज के डालीबाग में सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण कराने के मुकदमे में की गई है। कुछ ही दिनों पहले इस मामले में केस दर्ज किया गया था ।

पुलिस के मुताबिक़ मुख्तार, उसके बड़े बेटे अब्बास और छोटे बेटे उमर के खिलाफ हजरतगंज की डालीबाग कॉलोनी में जमीन पर कब्जा करके दो टावर का निर्माण कराने की एफआईआर दर्ज कराई गई है। फिलहाल दोनों टावरों को एलडीए के दस्ते ने 27 अगस्त को गिरा दिया था। बता दें कि जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर व अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। ।

सुरजन का आरोप है कि जिस जमीन पर मुख्तार के बेटों ने टावर बनवाए थे, वह मोहम्मद वसीम की थी। वसीम साल 1952 में पाकिस्तान चले गए तो संपत्ति निष्क्रांत के रूप में दर्ज हो गई। आरोप है कि इस जमीन के फर्जी दस्तावेज बनाकर मुख्तार के बेटों ने वहां कब्जा करके दो टावर का निर्माण करा लिया था..जमीन पर एक मस्जिद भी बना ली थी ।

आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी के एक बेटे अब्बास नेशनल लेवल के निशानेबाज हैं। अब्बास अंसारी शॉटगन शूटिंग के इंटरनेशनल खिलाड़ी हैं। वह दुनिया के टॉप-10 शूटर्स में भी शामिल रह चुके हैं। साथ ही, इंटरनेशनल लेवल पर कई पदक जीतकर देश का नाम रोशन कर चुके हैं ।

पुलिस की एक टीम ने साल 2019 में अब्बास अंसारी के दिल्ली के बसंत कुंज स्थित आवास में छापेमारी भी की थी। इस छापेमारी में करोड़ों रुपए के विदेशी असलहे समेत हजारों कारतूस बरामद किये गये थे। अब्बास अंसारी के खिलाफ उसी साल 12 अक्टूबर को लखनऊ की महानगर कोतवाली में आर्म्स एक्ट व धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ था।

इधर यूपी में प्रशासन ने मुख्तार अंसारी की कई अवैध संपत्तियों को जब्त किया है। पिछले कुछ दिनों में करोड़ों रुपये की अनाधिकृत जमीन से कब्जा हटवाने के बाद प्रशासन ने मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी व उनके साले सरजील रजा और अनवर शहजाद पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई भी की है। सभी के खिलाफ गाजिपुर कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

बताया जाता है कि अब तक की कार्रवाई में मुख्तार गिरोह की सालाना 48 करोड़ रुपये की आय बंद की जा चुकी है। पुलिस ने वाराणसी जोन के अलग-अलग जिलों में प्रतिबंधित मछली कारोबार, स्टोरेज, गिरोह बनाकर वसूली, कोयला कारोबार, बूचड़खाना समेत अन्य अवैध धंधों पर अंकुश लगाया है ।

(खबर जनसत्ता से साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.