अस्पताल ने कहा- नहीं करेंगे मुसलमानों का इलाज, एक्ट्रेस ने दिया करारा जवाब

इन दिनों पूरे देशभर में कोरोना से जुड़े कुछ मसलों और महाराष्ट्र के पालघर में हुई तीन संतों की मो’ब्लिंचिंग को लेकर सांप्रदायिक मामला गरमाया हुआ है. लॉकडाउन के इस दौर में सभी अपने घर पर हैं और सोशल मीडिया पर पूरी तरह से एक्टिव हैं. ऐसे में बहुत तरीकों के झूठी अफवाहों का सोशल मीडिया के जरिये आदान-प्रदान हो रहा है.

जिसका शि’कार एक समुदाय हो रहा है. सोशल मीडिया पर मामले को सांप्रदायिक बातों को ज्यादा ज़ोर दिया जा रहा है. अब ताजा मामला एक अस्पताल के विज्ञापन से जुड़ा है. इस विज्ञापन में एक खास समुदाय (मुस्लिमों) को इलाज ना करने की बात कही थी. जिस तरह से देश में कई कारणों से इस बीमारी को लेकर अभी भारत पूरी तरह रोकथाम लगाने में सफल नहीं रहा है.

लेकिन ऐसे दौर में किसी अस्पताल के द्वारा जारी किया गया ये विज्ञापन वाकई कई लोगों के गले नहीं उतर रहा है.

इसी पर बॉलीवुड एक्ट्रेस ऋ‌चा चड्ढा ने भी अपनी बात रखी है. उन्होंने कहा कि इसी तरह रंगभेद की शुरुआत हुई थी. ऋचा ने लिखा कि यह गैगर कानूनी है. साथ ही हिप्पोक्रेट्स की शपथ के खिलाफ है.

बता दें कि यूपी के मेरठ के मवाना रोड पर वैलेंटिस कैंसर अस्पताल ने अखबारों में एक विज्ञापन दिया है जिसमें कहा गया कि इस अस्पताल में मुस्लिम लोगों को एंट्री नहीं मिलेंगी. हालांकि कुछ बेहद विशेष मुसलमानों को भी इलाज समझा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.