शाहिद अफरीदी के घर पैदा हुई पांचवी “रहमत”, मिलिए उनके परिवार से

दुनिया में भाँती भाँती के लोग है, कुछ लोग तो बड़े ही दकियानूसी ख्यालात और सोच वाले लोग होते हैं, हमारे गाँव में कुछ गुर्जर ऐसे हैं जो बताते हैं कि फलाने ग्रन्थ में लिखा है कि अगर बेटा पैदा नहीं हुआ तो उसे मोक्ष की प्राप्ति नहीं होती।

चलिए खैर, आपको बता दूं, पाकिस्तान के इतिहास का सबसे फेमस खिलाड़ी, फेमस इसलिए की हिन्दू हो या मुसलमान, भारत्तीय हो या पाकिस्तानी सबके दिलों पर राज करता है ये बन्दा, नाम है शाहिद अफरीदी ( Shahid Afridi)। जी हां उनके घर एक परी आई है, नंन्ही परी।

शाहिद के घर आई नंन्ही परी

हालाँकि ये पहली बार नहीं है, उनके घर लगातार पांच बेटियां पैदा हो चुकी हैं, शाहिद अफरीदी ने अभी एक समाचार चैनल को बताया कि बेटियां अल्लाह की रहमत होती हैं, और ये नसीब वालों के घर ही पैदा होती हैं।

परिवार के साथ अफरीदी

शाहिद अफरीदी ने ट्विटर पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए ट्वीट किया कि मेरे घर एक और बच्ची ने जन्म लिया है अल्हम्दुलिल्लाह, मुझपर अल्लाह का बहुत बड़ा एहसान है, ट्वीट के माध्यम से शाहिद ने बताया कि मैं पहले ही चार बेटियों का पिता हूँ और मेरे घर में एक और ख़ुशी आ गयी है।

बेटी का बर्थडे मनाते शाहिद,

इस्लाम में औरत का बहुत बड़ा मुकाम बताया गया है, बेटियों को अल्लाह की रहमत (कृपा) बताया गया है, पैगम्बर मुहम्मद (SAW) ने घर में बेटियां पैदा होने पर उनकी अच्छे से परवरिश करने पर वादा किया था कि वो आदमी जन्नत में बिलकुल मेरा पड़ोसी रहेगा।

शाहिद अफरीदी की पत्नी बच्चों के साथ क्रिकेट मैच देखते हुए

शाहिद अफरीदी जैसा बड़ा स्टार जो बेटे की चाह में अबॉर्शन करा सकता था नहीं कराया, ये बात उनलोगों के मुंह पर जोरदार तमाचा है, जो कहते हैं कि “अगर बेटा पैदा न हुआ तो मोक्ष की प्राप्ति नहीं होगी।”

अफरीदी परिवार जिसमे अब एक और सदस्य शामिल हो गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.