बड़ी खबर: शाहीनबाग़ में फाय’रिंग करने वाला कपिल गुर्जर निकाला, ‘आप’ पार्टी का सदस्य।तस्वीर आयी सामने

दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल से कुछ दूर हवा में फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर को लेकर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक, वह आम आदमी पार्टी (आप) का सदस्य है। घटनास्थल से ही दबोचे गए आरोपी कपिल तस्वीर में पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और कालकाजी से उम्मीदवार आतिशी के साथ दिख रहा है।

यह उस वक्त की तस्वीर है जब 2019 में उसने आप की सदस्यता ली थी। 8 फरवरी को होने जा रहे चुनाव से पहले दिल्ली की राजनीति में इससे भूचाल आने की आशंका है।दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को पूछताछ के दौरान कपिल के फोन से कई तस्वीरें मिली हैं जिनमें आप जॉइन करने से जुड़ी तस्वीर भी है।

इन तस्वीरों में कपिल अपने पिता और कई अन्य लोगों के साथ आप की सदस्यता ले रहा है। क्राइम ब्रांच के डीसीपी राजेश देव ने बताया, ‘जांच के दौरान कपिल गुर्जर ने स्वीकार किया है कि उसने आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण की थी।’उल्लेखनीय है कि दल्लूपुरा के रहने वाले कपिल ने फायरिंग करते हुए घटनास्थल पर ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए थे

और यह भी कहा था कि यहां सिर्फ हिंदुओं की चलेगी। कपिल को रविवार को मेट्रोपॉलिटन जज के सामने पेश किया गया था जिन्होंने उसे दो दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया था। इस घटना के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने गृह मंत्री अमित शाह को राजधानी की कानून-व्यवस्था को लेकर घेरा था। अब गुर्जर के आप सदस्य होने की बात सामने आने के बाद इसकी पूरी संभावना है कि बीजेपी दिल्ली की सत्तारूढ़ पार्टी को इसपर जोरदार हमला बोले।केजरीवाल ने ट्वीट किया

था, ‘अमित शाह जी, ये आपने क्या हाल बना रखा है हमारी दिल्ली का। दिनदहाड़े गोलियां चल रहीं है। कानून व्यवस्था की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। चुनाव आते जाते रहेंगे, राजनीति भी चलती रहेगी, लेकिन दिल्ली के लोगों की ख़ातिर, कृपया कानून व्यवस्था ठीक करने पर ध्यान दीजिए। ‘महज दो दिन के भीतर यह दूसरी घटना थी जब प्रदर्शन स्थल के आसपास फायरिंग की गई हो।

इससे पहले जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के करीब एक नाबालिग ने गोली चलाई थी जिसमें एक स्टूडेंट घायल हो गया था। दोनों ही इलाका दक्षिण-पूर्व दिल्ली में आता है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए चुनाव आयोग ने दक्षिण-पूर्व के डीसीपी चिन्मय बिस्वाल को हटा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.