कोरोना- बुर्क़ा बैन करने वाली चीनी सरकार उसी तरह की वेशभूषा पहनने की कर रही अपील

चीन ने इस्लाम को वायरस कहा, उसने अपने देश में मज़हब ए इस्लाम को मिटाने की हर कोशिश कर डाली, चीन ने नमाज़ पर पाबंदी लगाई, रोज़े पर पाबंदी लगाई,क़ुरआन पर पाबंदी लगाई यहाँ तक फिलहाल में चीनी हुक़ूमत ने क़ुरआन के तर्जुमे को अपने हिसाब से लिखने का एलान किया।

ज़ुल्म इन्तहा पार कर दी उईगर में लाखों मुसलमानो को जेल में बंद कर दिया उनकी मज़हबी आज़ादी पर पाबन्दी लगाई, बेगुनाह मज़लूम मुसलमानो का क़त्ल किया, पूरी कोशिश की गई की चीन से इस्लाम का नामोनिशान मिटा दिया जाए। लेकिन चीन ये भूल गया कि इस्लाम मिटाने वाले ख़ुद मिट गए।

अल्लाह ताअला क़ुरआन में फरमाता है – “हमने उन लोगों से ज़्यादा ताक़तवर मर्दों को हलाक़ कर दिया, और पहले के लोगों की मिसाल गुज़र चुकी है” अल्लाह ताअला की तरफ से हाल ही में चीन पर अज़ाब नाज़िल हुआ है जो corona वायरस के रूप में जाना जाता है।

चीन में इस वक़्त 35 लाख से ज़ाइद लोग अब एक यात्रा लॉकडाउन पर हैं ,3700 से ज़ाइद इस वायरस् की ज़द् में आ चुके हैं और 100 से ज़ाइद लोग मर चुके हैं। जिस चीन ने मुस्लिम औरतो के बुर्क़े पर बैन लगाया था। आज वहां के लोग #crona वायरस से बचने के लिए मर्द औरत सभी हिजाब की तरह कपडे से ख़ुद् को ढके फिर रहें।

चीन के ज़ुल्म ओ सितम के ख़िलाफ आवाज़ बलन्द करने वाले मुसलमानो पर चीन प्रतिबंध लगा दिया था,
आज 35 लाख से ज़ाइद चीनी नागरिकों को अन्य मुल्क़ो में सफर करने से प्रतिबन्धित कर दिया गया है।
आज चीनी प्रेजिडेंट मुसलमानो से दुआ की दर्ख़ास्त कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.