इस हि’न्दू संगठन ने ली JNU हिं’सा में छात्रों पर ह’म’ले की जि’म्मे’दारी, पु’लिस की जांच में हुआ..

रविवार शाम दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई इंसाफ के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जल्द से जल्द इस मामले पर रिपोर्ट पेश करने के आदेश जारी किए हैं। अब खबर सामने आ रही है कि एक हिं’दूवा’दी संगठन हिं’दू र’क्ष’क दल ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिं’सा की जि’म्मेदा’री ली है।

बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस हिं’दू रक्षक दल के इस दावे के बाद जांच में जुट गई है। जानकारी सूत्रों के हवाले से सामने आए खबर के तहत हिं’दू र’क्ष’क द’ल के नेता पिंकी चौधरी ने छात्रों पर हुए ह’म’ले की पूरी जिम्मेदारी लेने की बात कही है। इस हिंसा में 30 से ज्यादा छात्र जख्मी हुए हैं। जिसमें जेएनयू छा’त्र सं’घ की अ’ध्य’क्षा आइशी घोष भी शामिल है।

एएनआई की रिपोर्ट के तहत जे’एन’यू में हुए हिं’सा के बारे में बातचीत करते हुए पिंकी चौधरी ने कहा है कि यह यूनिवर्सिटी रा’ष्ट्र वि’रो’धी ग’तिवि’धि’यों का केंद्र है। हम इसे ब’र्दा’श्त नहीं कर सकते। इसलिए हमने ऐसा किया और जे’एन’यू में हुए ह’म’ले की पूरी जि’म्मेदा’री हम लेते हैं और ह’म’ला करने वाले हमारे कार्यकर्ता थे।

कुछ लोगों का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी के छात्रों के संगठन ए’बी’वी’पी के खि’ला’फ आ’रो’पों को छिपाने के लिए यह ग्रुप पीछे से काम करता है। वहीं, जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में छात्रों और शि’क्ष’कों पर हुए ह’म’ले में शामिल लोगों की पहचान के लिए पुलिस वीडियो फुटेज और चेहरे पहचानने की प्र’णा’ली का इस्तेमाल कर रही है।

सूत्रों ने बताया कि पु’लि’स दो’षि’यों की पहचान के लिए वीडियो फु’टे’ज और चेहरे प’हचा’नने की प्रणाली का इस्तेमाल कर रही है। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने रविवार शाम जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिं’सा से एक दिन पहले यूनिवर्सिटी के स’र्वर रूम में कथित रूप से तो’ड़फो’ड़ करने के मामले में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष और 19 अन्य लोगों के खि’ला’फ मा’म’ला दर्ज किया गया है।

3 जनवरी के मामले में भी एक एफआईआर दर्ज की गई है, लेकिन उसमें घोष का नाम नहीं है। 4 जनवरी को जो मा’रपी’ट और सर्वर रूम तोड़ने की एफआईआर है उसमें आइशी घोष और उनके 7-8 साथियों के नाम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.