लेबनानी जनता की मदद और दर्द महसूस करने के लिए बैरुत पोहुँचे तुर्की लीडर

लेबना’न के बे’रूत में हुए ब्ला’स्ट के बाद ‘इज़’हार ए य’कज’हती के लिए तुर्की के उपराष्ट्रपति Fuat Oktay और विदेश मंत्री मेवलुट केवसोगलु के नेतृत्व में एक डेलिगेशन पहुँचा । इस डेलिगेशन ने बेरूत में हुए ब्ला’स्ट के पी’ड़ि’तों के साथ मुलाक़ात भी की । तुर्की के उपराष्ट्रपति और विदेश मंत्री का बेरूत आ’वाम ने जब’र’दस्त स्वागत किया । बता दे, दिनों लेबनान के बेरूत में हुए अमो’निय’म ना’इ’ट्रेट के करीब 2800 किलो वजनी वि’स्फो’ट के बाद करीब करीब पूरा शहर म’ल’बे के ढ़े’र में बदल गया था ।

लेबनान सरकार के मुताबिक अब तक 150 से ज्यादा जा’ने जा चुकी है वही 6 हज़ार से अधिक लोग घाय’ल बताए जा रहे है । बता दे, बेरूत के बंद’रगाह में ये हा’द’सा पेश आया है ,इसके बाद से लेबनान सरकार ने वहां पर ए’म’र’जें’सी लगाने का निर्णय लिया है । बेरूत में हुए नु’कसा’न की बात करें तो इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लेबनान सरकार ने भी इसे अब तक का सबसे बड़ा ध’मा’का बताया है ।

दुनिया के कई देशों ने लेबनान की ओर मदद का हाथ बढ़ाया है । अमेरिका , यूरोप, फ्रांस , तुर्की, सऊदी अरब , पाकिस्तान , कतर और कई देश लगातार मदद पहुँचा रहे है । बात दे, सऊदी सरकार ने बीते दिनों की बेरूत के एयरपोर्ट पर 120 टन की राहत सामग्री पहुचाई है इसमें मेडिक’ल कि’ट , मे’डिक’ल इ’क्वि’प’मेंट , खाने के पैकेट के अलावा हॉ’स्पि’टल के भी सामान पहुचाए है ।

बता दे, तुर्की सरकार ने लेबनान के लिए बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि वह जल्द से जल्द बेरूत में हुए ब’र्बा’द हुए बंद’रगाह को फिर से सुचारू रूप से शुरू करने के लिए उसे बनाएगा । वही लेबनान की भव्यता को दुबारा से लाने के लिए सभी प्र’यास करने का ऐलान किया है । इसके अलावा तुर्की ने कहा है कि वो हवा’ई एम्बु’लें’स भी शुरू कर दिया ।

तुर्की सरकार ने लेबनान सरकार से कहा है कि वो बेरूत का बंद’र’गाह जब तक शुरू न’ही हो जाता तब तक तुर्की के बं’दरगाह पर काम कर सकता है । तु’र्की ने ले’बनान के बेरूत में तमाम मे’डिकल ज’रूरतों को पहुचाने का भी जिम्मा लिया है । तुर्की ने कहा है कि वो बेरूत के ध’मा’के के बाद जो हॉ’स्पि’टल को क्ष’ति पहुची है उनका दुबारा निर्माण करेगा ।

बता दे, तुर्की उ’स्मानि’या सल्त’नत का अहम हिस्सा रहा है । जब भी उ’म्मते मुस्लि’मा पर कोई परेशानी आती है तो तुर्की किसी भी मुस्लि’म देश के साथ कंधा से कंधा मिलाता हुआ नजर आता है । तु’र्कि उ’म्मत के मुस्लि’मों’ के लिए लगातार मदद करता रहा है, चाहे फि’लि’स्तीन के मुस्लि’मो की बात हो, क’श्मी’र के मुसलमा’नों की बात हो , ब’र्मा के मुस’ल’मानों की बात हो या उई’गर मु’स्लि’मों की बात हो ।

तुर्की बीते सालों में मुस्लि’मों की चौतरफा मदद कर रहा है इसमे इसके प्रति लोगों में एक अलग ही प्रकार का व्यू देखने को मिलता है । बेरूत में हुए ब्ला’स्ट के बाद तु’र्की ने फौरन ही मेडिक’ल टीम और राहत बचा’व कार्य मे तेजी लाते हुए मदद पहुचाई थी ।बता दे, लेबनान में बड़ी आबादी मु’स्लि’मों की है लेकिन वहां पर क्रि’श्चन की तादाद भी अच्छी खासी बताई जाती है ।

बे’रू’त ब्ला’स्ट के बाद वहां की सड़कों पर सर’का’र के खिला’फ प्रदर्शन’कारी सड़’को पर उतर आए,जिससे वहां 150 के करीब प्रदर्श’नका’री के घा’य’ल और 1 कि मौ’त होने की खबर सामने आई है ।अंत’र’राष्ट्रीय जा’नका’रों की माने तो लेबना’न में स’ऊदी के साथ साथ तु’र्की ने बड़ी मद’द का आ’श्वासन दिया है । वही यू’रोप भी इसमें बढ़ च’ढ़कर मदद कर रहा है ।

एक तरह ले’बनान के बेरूत की घ’ट’ना होने की ईरा’न सम’र्थित हि’जबुल्ला’ह पर लगाए जा रहे है । लेब’नान की सड़’कों पर प्रदर्श’नकारि’यों ने पो”स्टर के माध्यम से लेबना’न स’रकार से अपील की है वो जल्द से जल्द बेरूत ब्ला’स्ट ह’म’ले के आ’रो’पी को प’कड़े । विदे’शी जानकारों का मानना है कि ये प्रद’र्शन नवम्बर 2019 से चल रहे थे लेकिन को’रो’ना के बाद ये सब ख’त्म हुआ ।

लेबनान के लोगों का गु’स्सा वहां की सरकार के प्रति बे’रोजगा’र, महँ’गाई और अन्य जरूरी सेवाओ को का’बू नही करने के कार’ण बताया जा रहा था जो दिन ब दिन उ’ग्र होता हुआ दिख रहा है ।बता दे, मीडिया रिपोर्ट्स में ये बात भी सामने आई है कि जिस पोर्ट पर ये ब्ला’स्ट हुआ वहां पर बड़ी तादाद में अनाज भी रखा हुआ जिससे लेब’नान सरकार को आने वाले वक्त में बड़ी परे’शानी’ का सामना कर सकता है ।

वही दूसरी ओर देखे तो सऊदी, तुर्की , कतर से बड़ी मदद आना लेबना’न की मुश्कि’लों को कही ह’द्द तक कम कर दिया है । मु स्लिम मु’ल्क़ों की मदद से साफ है कि वि’रो’धि’यों की चा’ल उ’ल्टी पड़ सकती है और ले’बना’न मजबूत होकर आने वाले वक्त में उभर सकता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.