तुर्की मस्जिद: जो आपको चाहिए ले जाओ जो ज्यादा है दे जाओ

तुर्की : आज पूरी दुनियां में करोंना वायरस का कहर बरपा है जिस से शायद ही कोई खुशनसीब देश अछूता हो । इस भयानक बीमारी की वजह से हर इंसान अपने आप को घर मे कैद किए हुए हैं । सभी तरह की इबादतगाह में लोगो का ईबादत करने जाना रुका हुआ है और मस्जिदे नमाज़ियों से वीरान हो रही है । लेकिन फिर भी तुर्की में अलग ही तरह का नजारा देखने को मिल रहा है वँहा हुकूमत ओर प्रशाशन के साथ साथ अवाम भी बड़ी जागरूकता के से समाज कल्याण कार्यों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रही है ।

क्योकि मस्जिदों में नमाज़ नही हो रही तो इसका मतलब यह नही कि समाज कल्याण के काम से मस्जिद रुक जाएगी। हर जरूरतमंद हो मजबूर के लिए मस्जिदों से हो रही है मदद

तुर्की में ” जो आपको चाहिए , लेजाओ और जो ज़्यादा है दे जाओ” के सिद्धांत पर मस्जिदे काम कर रही है। यह एक फ़ूड बैंक की तरह काम कर रही है। इसलिए मैं कहता हूँ आपकी लीडर शिप जिनके हाथ मे है उनकी आंखों में दूरबीन होना बहुत ज़रूरी है।

कुछ लोगो का कहना है कि करोंना की इस भयानक बीमारी से निपटने के बाद हम भी अपने अपने इलाको की मस्जिदों में मीटिंग रखेंगे कि मस्जिद का पहला तल्ला जो हफ्ते में केवल एक बार भरता है इसका ज़्यादा से ज़्यादा लाभ कैसे उठाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.