एक शख्स को मिला नोटों से भरा बैग तो उसने कर डाला ऐसा काम, है’रा’न हो गया पूरा परिवार..

आजकल के दौर में इंसानियत और इमानदारी बहुत ही कम लोगों में रह गई है। लोग एक दूसरे को नीचा दिखाने में ही अपना सारा वक्त बिता देते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि आजकल लोग एक दूसरे की मदद करने के लिए हि’चकिचा’ने लगे हैं। लेकिन ऐसे वक्त में अगर आप को कोई यह कहे कि एक शख्स ने पैसों से भरे बैग को उसके मालिक तक पहुंचाया तो क्या आप इस बात पर यकीन कर पाएंगे।

आइए आपको बताते हैं इस घटना की सच्चाई क्या है। गौरतलब है कि आज के जमाने पर अगर किसी को एक रुपए भी मिलता है तो वो तुरंत उसे अपनी जेब में डाल लेता है। ऐसे में सोचकर देखिये कि अगर किसी को रुपयों से भरे बैग दिख जाए तो किसी की भी नीयत का बि’गड़’ना तय है। मगर इन सब बातों को एक शख्स ने गलत सा’बित कर दिया।

बताया जा रहा है कि इस शख्स को पेड़ के नीचे नोटों से भरा बैग मिला इसके बावजूद उसने इसे अपने पास रखने की जगह इसे उसके मालिक को वापस दे दिया। आपको बता दें कि पैसों से भरा बैग मिलने की यह घटना जर्मनी की है। दरअसल क्रिसमस वाले दिन एक 51 वर्षीय शख्स को नोटों से भरा बैग मिला। जिसमें 17000 डॉलर कैश यानि करीब 12 लाख रुपए थे।

मगर रुपए देखते ही शख्स ने इसे बैग के असली मालिक को वापस लौटाने का फैसला किया। उसने इस बैग को उसके मालिक तक लौटाने के लिए काफी खोजबीन की। जिसमें पता चला कि 63 वर्ष का एक व्यक्ति बैग भूल गया था। पुलिस के सामने शख्स ने असली मालिक को उसे रुपए वापस लौटा दिए।

बताया जाता है कि रुपए से भरा बैग वापिस मिलने की खुशी में उस बुजुर्ग ने जब शख्स को कुछ रुपए बतौर तोहफा देना चाहा तो उसने रुपए लेने से मना कर दिया। क्यूंकि इस बारे में शख्स का कहना है कि क्रिसमस के मौके पर वो इसे नहीं रख सकता। उस शख्स का कहना है कि किसी को उसका खोया सामाना लौटाना पुण्य का काम होता है। क्रिसमस एक पवित्र त्योहार है ऐसे में खुशियां बांटना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.